मोबाइल टॉर्च की रोशनी महिला की डिलीवरी की गई। भाई ने किया जमकर विरोध

एक तरफ यूपी के योगी सरकार स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने में लगी पड़ी है। वहीं दूसरी तरफ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चोपन की स्थिति खराब दिखाई दे रही। दरअसल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चोपन सीएचसी में एक महिला की डिलीवरी हुई।

मोबाइल फोन की टोर्च की रोशनी में महिला की गई डिलीवरी

बिजली सेवा न होने के कारण डॉक्टर ने मोबाइल की रोशनी में ही डिलीवरी कर दी। महिला के भाई के शिकायत के बाद यह पूरा मामला सामने आ रहा है। इस पूरी घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

वीडियो सोशल मीडिया पर आग की तरह वायरल हो रहा है

पीड़िता के भाई का नाम दीपू बताया जा रहा है जिन्होंने सच्चाई सामने आने के बाद पूरी घटना को लेकर शिकायत की है। पीड़ित महिला के भाई ने बताया कि उनकी बहन का डिलीवरी अंधेरे में हो रहा था और कई दिनों से अस्पताल में बिजली की सुविधा उपलब्ध नहीं है।

जनरेटर होने के बावजूद अस्पताल में इस प्रकार का काम किया जा रहा है

जनरेटर होने के बावजूद भी अस्पताल में लाइट की सुविधा उपलब्ध नहीं है। स्वास्थ्य विभाग के लापरवाही का खामियाजा आम आदमी को भुगतना कर रहा है।
लापरवाही के बावजूद भी अभी तक इस मामले में किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं की गई है।

(एसीएमओ, स्वास्थ्य विभाग सोनभद्र) अशोक कुमार ने जवाब में कहा क्या कुछ

यहां के (एसीएमओ, स्वास्थ्य विभाग सोनभद्र) अशोक कुमार का कहना है कि तुरंत इस घटना के बाद जनरेटर चालू करवाया गया। अशोक कुमार का कहना है कि लाइट जाने में और जनरेटर चालू करने में जो समय लगता है उसी के बीच में डिलीवरी कर दी गई।

बड़े घटना के बाद एसीएमओ, स्वास्थ्य विभाग सोनभद्र) अशोक कुमार का कहना है कि अस्पताल में इनवर्टर की सुविधा लगानी चाहिए। जैसे ही एक बड़ी खबर सामने आई है अशोक कुमार से काफी सारे सवाल पूछे जा रहे हैं।

लेकिन आपको क्या लगता है कि इस मामले को लेकर कोई बड़ी कार्यवाही की जाएगी या फिर हर बार की तरह मामले को रफादफा कर दिया जाएगा।

Exit mobile version